परोपकार और करुणा का अनुकरणीय उदाहरण

0
97

परोपकार और करुणा का अनुकरणीय उदाहरण
मंगल विहारत मुनिश्री समयसागर जी महाराज ने रास्ते में मिली घायल गाय को नमोकर मंत्र सुनाया गौशाला में भिजवाया गया
सागर : सचमुच ऐसा द्रश्य परिलक्षित हुआ जो सचमुच करुणा परोपकार के प्रति हम सभी को जाग्रत करता है आचार्यश्री विद्यासागर महाराज के प्रथम निर्यापक मुनिश्री समयसागर जी महाराज का मंगल विहार मकरोनिया से जैन तीर्थक्षेत्र बीनाबारह (देवरी) की ओर चल रहा है। मुनि सेवा समिति के मनोज जैन लालो ने बताया रविवार सुबह जब मुनि संघ विहार कर फोरलेन बम्होरी चौराहा के पास पहुंचे वहां एक गाय वाहन की टक्कर से गंभीर रूप से घायल अवस्था में पड़ी हुई थी। तभी करुणा के सागर समयसागर जी महाराज ने णमोकार मंत्र सुनाया। वह हुआ जो सभी को चकित कर गया कुछ ही पलों में गाय में चेतना आ गई,वह पैरों को चलाने लगी। तुरंत ही मुनि सेवा समिति के मुकेश जैन ढाना ने गौरझामर स्थित गौशाला प्रबंधन को कॉल किया, वहां से गायों की सेवार्थ करूणा रथ लाकर गाय को गौशाला ले जाकर उसका उपचार शुरू किया गया। निश्चित रूप से यह करुणा दया एक मार्मिक उदाहरण प्रस्तुत करता है

संकलन – अभिषेक जैन लूहाडीया रामगंजमंडी

LEAVE A REPLY