पूज्य आचार्य 108 श्री वर्धमान सागर जी महाराज ससंघ का मंगल विहार

1
844

11078088_10202779114953931_7103035172690293519_nआचार्य शांति सागर जी महाराज की अक्षुण्ण परंपरा के वर्तमान पट्टाचार्य वात्सल्य वारिधि पूज्य आचार्य 108 श्री वर्धमान सागर जी महाराज ससंघ का किशनगढ़से मंगल विहार 25 जून को होगा। संघ का विहार निवाई (जिला टोंक की तरफ होगा।

1 COMMENT

  1. खुश खबरी खुश खबरी
    चलो श्रवणबेलगोला

    बड़े ही हर्ष का विषय है, बीसवीं सदी के प्रथम दिगम्बराचार्य श्रमण परंपरा के उन्नायक चारित्र चक्रवर्ती आचार्य श्री 108 शांति सागर जी महाराज की अक्षुण्ण परंपरा के वर्तमान पट्टाचार्य वर्तमान के वर्धमान वात्सल्य वारिधि आचार्य श्री 108 वर्धमान सागर जी महाराज ने 2018 में संपन्न होने वाले महामस्तकाभिषेक में ससंघ मंगल सान्निध्य प्रदान करने की स्वीकृति प्रदान की।एक तरफ जहाँ निवाई में आचार्य श्री ससंघ के सान्निध्य में भव्य इंद्रध्वज मंडल विधान के आयोजन का आज समापन की खुशियाँ छायी हुई थी वहीँ दूसरी और आचार्य संघ की स्वीकृति ने जन मानस की खुशियों को बहुगुणित कर दिया।
    श्रवणबेलगोला के भट्टारक स्वस्ति श्री चारुकीर्ति जी की प्रेरणा से महोत्सव समिति के कार्याध्यक्ष भट्टारक स्वामीजी का आचार्य संघ के प्रति भाव भरा निमंत्रण पत्र लेकर आज निवाई पधारे।
    अन्य गणमान्य व्यक्ति श्रीमान निर्मल कुमार जी सेठी श्रीमान अशोक जी पाटनी (RK मार्बल) श्रीमान अशोक जी सेठी (बंगलौर) संजय जी पापड़ीवाल हुलाश जी सबलावत कंवरी लाल जी काला आदि सभी उपस्थित जन समुदाय ने स्वामीजी के नेतृत्व में होने वाले जैन समुदाय के ऐतिहाशिक महाकुम्भ श्रवणबेलगोला के महामहोत्सव को आचार्य श्री संघ के सान्निध्य में करवाये जाने हेतु श्री फल भेंट किया।
    समिति को मंगल आशीर्वाद प्रदान करते हुए आचार्य श्री ने भगवान गोम्मटेश बाहुबली के चरणों में नमन करते हुए कहा की दक्षिण में खड़े बाहुबली उत्तर की ओर निहार रहे है और हम ससंघ भगवान् बाहुबली के चरणों के दर्शन करने उत्तर से विहार कर दक्षिण की और जरूर जायें यही भावना है।

    गोम्मटेश तेरे गाँव में
    ओ बाहुबली तेरी छाँव में।
    होगा एक ऐतिहाषिक कुम्भ
    ओ बाहुबली तेरे पाँव में।।

    गोम्मटेश बाहुबली की जय
    आचार्य श्री वर्धमान सागर जी महाराज की जय।

    आनंद जैन खंडवा
    09977129101

LEAVE A REPLY