मुनि पुलक सागर के चातुर्मास की घोषणा संघपति का पद ग्रहण 31 को, पंचकल्याणक की तैयारी जोरों पर

0
298

उदयपुर :

राष्ट्रसंतमुनि पुलक सागर के विहार का प्रबंध अब संघपति करेंगे। ये जिम्मेदारी भोपाल के प्रदीप जैन ‘मामा’ को दी गई है। उन्हें संघपति का पदभार 31 मई को होने वाले समारोह में सौंपा जाएगा। जैन समाज में यह पहला मौका है कि संत की विहार व्यवस्था के लिए संघपति नियुक्त किया जाएगा।images

मुनिश्री की प्रवास व्यवस्था में जुटे पदाधिकारियों ने बताया गया कि चातुर्मास के अलावा सर्दी, गर्मी में विहार के दौरान आने वाली परेशानियों को ध्यान में रखते हुए संघपति नियुक्त करने की व्यवस्था की जा रही है। प्रदीप जैन संघपति की जिम्मेदारी आजीवन संभालेंगे। सेक्टर 11 स्थित जवाहर जैन स्कूल परिसर में होने वाले समारोह में उन्हें पद ग्रहण कराया जाएगा। इसी मौके पर मुनिश्री के चातुर्मास की घोषणा भी की जाएगी। मुनिश्री को उदयपुर सहित डूंगरपुर, अजमेर, केसरियाजी, नसीराबाद के श्रावकों ने श्रीफल भेंट कर चातुर्मास का आग्रह किया। हाल ही मुनिश्री के लिए घोषित हुआ ‘भारत गौरव सम्मान’ लेने के लिए पांच सदस्यीय दल 25 जुलाई को लंदन जाएगा।

मूर्तियों में नहीं होते भगवान, भावनाओं से डाले जाते हैं

बातचीतमें मुनिश्री ने कहा कि पत्थर की मूर्तियों में भगवान नहीं होते। भगवान तो भावनाओं से डाले जाते हैं। दिगंबर संत खुद त्याग की भावना रखते हैं, लेकिन प्रभु भक्ति के गुणगान करवाते हैं। यही भक्ति और प्रतिष्ठा का मूल है। यह दिखावा नहीं, धर्म की जरूरत है। एक सवाल पर मुनिश्री ने कहा कि ये सभी जानते हैं कि अयोध्या बाबर की नहीं राम की जन्मभूमि है। अयोध्या का नाम राम से है बाबर से नहीं। जिसकी जन्मभूमि है, उसके लिए दे दी जाए। घर-घर की महाभारत मिटानी है तो हर घर में रामायण पहुंचानी होगी।

पंचकल्याणकमहोत्सव कल से : मुनिपुलकसागर, मुनि धैर्य सागर ससंघ के सानिध्य में चिंतामणि पार्श्व नाथ जिन बिम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव का आयोजन रविवार को गोवर्धन विलास स्थित हीरामन टावर में शुरू होगा। पांच दिवसीय महोत्सव में पहले दिन गर्भ कल्याणक, दूसरे दिन जन्मकल्याणक, तीसरे दिन तप कल्याणक, चौथे दिन ज्ञान कल्याणक और अंतिम दिन 28 को मोक्ष कल्याणक होगा। पंडित हंसमुख शास्त्री प्रतिष्ठा करवाएंगे। विश्वशांति की कामना से यज्ञ होगा। प्रतिदिन 5 हजार से अधिक श्रावक जुटेंगे। विप्लव जैन ने बताया कि मुनिश्री शनिवार सुबह 6 बजे आदिनाथ भवन सेक्टर 11 से विहार कर हीरामन टावर पहुंचेंगे।

 

रिपोर्ट : अभिषेक जैन रामगंजमंड़ी

 

LEAVE A REPLY